रमी टाइल के प्रकार

Publishing time:2021-10-25 12:51:58

मी फुटबॉल शेड्यूल रमी टाइल के प्रकार 10cric बोनस उपयोग,betway वीडियो गेम,लियोवेगैस जैकपॉट विजेता,lovebet ऐप इंस्टाल डाउनलोड,lovebet भाग्यशाली 6 परिणाम,lovebet विकिपीडिया,एक पोकर चेहरा अर्थ,बैकारेट क्रिस्टल,बैकरेट सिंगल नोट तकनीक,सट्टा बंद,कैसीनो 480p डाउनलोड,कैसीनो सात दिन मौसम पूर्वानुमान,क्लासिक रम्मी ऐप डाउनलोड APK,क्रिकेट जीके प्रश्न हिंदी में,डीएच पोकर टेक्सास हैक,यूरोपीय कप खेल सट्टेबाजी,फुटबॉल लात मारने की विधि,उत्पत्ति कैसीनो बोनस कोड 2021,एचडी स्लॉट मशीनें,आईपीएल बेस्ट कप्तान,जैकपॉट फिल्म की कास्ट,लाइव लाठी असफल,लाइव रूले परिणाम,लॉटरी टिकट भारत,मेरी रम्मी क्लासिक,ऑनलाइन कैसीनो अंशकालिक,ऑनलाइन पोकर बोनस,पी स्पोर्ट्स लोअर,पोकर पासा,बैकारेट का पेशेवर जुआरी कानून,शाही हम,रम्मी पैरा 8 जुगाडोरेस,स्लॉट मशीन बेस,स्लॉट-ए-मजेदार कैसीनो,स्पोर्ट्सबुक बेलाजियो,टेक्सास होल्डम डेक,यूईएफए चैंपियंस लीग,ऑनलाइन कैसीनो क्या हैं,विश्व प्रारंभिक अर्जेंटीना चिली,इलेक्ट्रॉनिक खेल football,कैसीनो के खेल jio,गोरी चोरी,जोकर लैला,फुटबॉल न्यूज़ टुडे,बेटा ठाकुर का गाना,लॉटरी का खेल दिखाना,स्पोर्ट्स न्यूज़ इन इंग्लिश .सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल

क्रिप्‍टोकॉइन में पेमेंट की योजना बनाने वाली कंपनियों ने खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराया है.
हाल के कुछ समय में युवाओं की क्रिप्‍टोकरेंसी में दिलचस्‍पी बढ़ी है. इसे देखते हुए नए युग की टेक्‍नोलॉजी कंपनियां ऐसे कर्मचारियों को उनकी सैलरी का कुछ हिस्‍सा, बोनस या अन्‍य इंसेंटिव क्रिप्‍टोकरेंसी में दे रही हैं. कंपनियों के लिए यह पेमेंट का आसान और तेज तरीका है. वहीं, क्रिप्‍टोकरेंसी के बढ़ते मूल्‍य कर्मचारियों को लुभा रहे हैं.

कंपनियों ने इसके लिए दो तरीके अपनाएं हैं. पहला, खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराना और कानूनी या टैक्‍स संबंधी अड़चनों से कर्मचारियों को बचाने के लिए क्रिप्‍टोकरेंसी में उन्‍हें पेमेंट करना है. दूसरा, पेमेंट का रिकॉर्ड रुपये में ट्रांजैक्‍शन के तौर पर अपने बहीखातों में दर्ज करना है.

इसे भी पढ़ें : फ्रेशर्स के लिए मौका, कंपनियां बड़े पैमाने पर कर रही हैं भर्ती

यह कैसे काम करता है?
- क्रिप्‍टो कॉइन में पेमेंट की योजना बनाने वाली कंपनियों ने खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराया है.
- कंपनियों ने यह भी सुनिश्चित किया है कि रुपया क्रिप्‍टो कॉइन में कन्‍वर्ट हो सके और रुपये ट्रांजैक्‍शन के तौर पर पेमेंट रिकॉर्ड हों.
- ऐसी ज्‍यादातर कंपनियां टीथर (यूएसडीजी) का इस्‍तेमाल करती हैं. ये ज्‍यादा स्थिर क्रिप्‍टोकरेंसी हैं. इसका कन्‍वर्जन 1 डॉलर से सीधे 1 यूएसडीटी में हो जाता है.
- अन्‍य इथीरियम, प्‍लास टोकन और ऑडियो कॉइन में पेमेंट करती हैं.

देश में स्थिति नहीं है साफ
देश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं. चेन एसेट्स कैपिटल नाम के क्रिप्‍टो हेज फंड के प्रमुख उपिंदर प्रीत सिंह ने कहा कि भारत में क्रिप्‍टोकरेंसी की मान्‍यता को लेकर बहुत से नियम हैं. इनमें स्‍पष्‍टता का भी अभाव है.

पटना में रहने वाले कंसल्‍टेंट सुजीत कुमार ने कहा, ''क्रिप्टोकरेंसी एक्‍सचेंज के जरिये ऑल्‍टकॉइन को भुनाने के बाद मैंने इस रकम को टैक्‍स रिटर्न में कंसल्‍टेंट फीस के तौर पर इनकम में दिखाया है.''

इसे भी पढ़ें : अगर आपके पास ये स्किल्‍स हैं तो नौकरी की नहीं है कमी

कुमार को इथीरियम, प्‍लास टोकन और ऑडियो कॉइन जैसे ऑल्‍टकॉइन का भुगतान होता है. इसे वह भारतीय क्रिप्‍टोकरेंसी एक्‍सचेंज के जरिये भुनाते हैं. वह कहते हैं, ''मैं अमूमन अपनी जरूरत के अनुसार कॉइंस को कन्‍वर्ट करता हूं. मेरे ज्‍यादातर क्‍लाइंट क्रिप्‍टोकरेंसी मार्केट में हैं. लिहाजा, ट्रांजैक्‍शन आसानी और तेजी से हो जाता है. मैंने पिछले साल का अपना बोनस भी क्रिप्‍टोकरेंसी के जरिये लिया है.''

एक क्रिप्‍टोकरेंसी न्‍यूज वेबसाइट के सीईओ ने कहा, ''हम जहां क्रिप्‍टाकरेंसी में सैलरी का भुगतान करते हैं, वहां नियमों का पूरा पालन किया जाता है. कर्मचारियों को रुपये में सैलरी स्लिप दी जाती है. यह कर्मचारियों की क्रिप्‍टो में सैलरी स्लिप की आशंका को दूर सकता है.''

क्‍या है सरकार का रुख?
केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने शनिवार को कहा कि सरकार गवर्नेंस में सुधार के लिए क्रिप्टोकरेंसी सहित नई तकनीकों पर विचार करने को तैयार है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद गवर्नेंस के विभिन्न पहलुओं में टेक्‍नोलॉजी को अपनाने के मजबूत समर्थक हैं. इससे पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा था कि सरकार अभी भी क्रिप्टोकरेंसी पर अपनी राय तैयार कर रही है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

क्रिप्‍टोकरेंसीप्‍लास टोकनट्रांजैक्‍शनसैलरी और पर्क्‍स का पेमेंटइथीरियम

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read
सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) अक्टूबर में अबतक भारतीय बाजारों में शुद्ध बिकवाल बने हुए हैं। उन्होंने अक्टूबर में भारतीय बाजारों से 3,825 करोड़ रुपये की निकासी की है। इससे पिछले दो माह में एफपीआई ने ऋण या बांड बाजार में जबर्दस्त निवेश किया था। उन्होंने सितंबर में बांड बाजार में 13,363 करोड़ रुपये और अगस्त में 14,376.2 करोड़ रुपये डाले थे। डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, अक्टूबर में एफपीआई ने अभी तक बांड बाजार से 1,494 करोड़ रुपये निकाले हैं। इसी तरह उन्होंने शेयरों से 2,331 करोड़ रुपये की निकासी की है। इसमहामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल

नौकरी जॉबस्पीक्स इंडेक्स की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, डिजिटल बदलाव की लहर में सूचना प्रौद्योगिकी-सॉफ्टवेयर क्षेत्र लगातार इससे बचा हुआ है.महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.'कू' के प्रयोगकर्ताओं की संख्या बढ़कर डेढ़ करोड़ के करीब, दक्षिण-पूर्व एशिया में विस्तार की योजना

उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के विभिन्न फॉर्मेट में चुनौतियों और अड़चनों को दूर करने के लिए सीआईआई के तहत खुदरा सेक्‍टर के लोगों का मानना है कि सरकार को एक मजबूत रिटेल पॉलिसी लानी चाहिए.नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) छत्तीसगढ़ स्थित हीरा समूह की इकाई गोदावरी ई-मोबिलिटी प्राइवेट लिमिटेड रायपुर में एक इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने के लिए 2023 तक 150 करोड़ रुपये तक निवेश करने की योजना बना रही है। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कंपनी साथ ही दक्षिण और पश्चिम भारत के बाजारों में अपनी पहुंच को बढ़ाने के साथ नए उत्पादों को उतारने की भी तैयारी कर रही है। कंपनी वर्तमान में पूर्वी और उत्तर भारत के छह राज्यों में इब्लू ब्रांड के तहत बिजली से चलने वाले (इलेक्ट्रिक) तिपहियाबुनियादी ढांचा क्षेत्र की 438 परियोजनाओं की लागत 4.3 लाख करोड़ रुपये बढ़ी

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


केवल 12-7 . के बीच खाना
लाइव लाठी netent
एनबीए रॉकेट रैंकिंग
ऑनलाइन गेम यूनो मल्टीप्लेयर
इस महीने उत्पत्ति कैसीनो जैकपॉट्स
lovebet.com सट्टेबाजी
बोन्स ज़ालैंडो
स्पोर्ट्स पैंटी
ऑनलाइन स्लॉट असली पैसा कनाडा
उच्चतम rtp . के साथ ऑनलाइन स्लॉट
पैरिमैच नकली
बैकारेट 6 पीस चाकू ब्लॉक सेट
ऑनलाइन पोकर प्ले मनी
लाइव वर्चुअल ब्लैकजैक
लॉटरी एन.वाई
मैं लॉटरी सांबाद
fun88 कैसीनो
सबसे सुरक्षित ऑनलाइन बैकारेट वेबसाइट
lovebet 100
rummy कैसे खेलते है
नवीनतम सट्टेबाजी युक्तियाँ
रम्मी 75 बोनस
तीन पत्ती में जीतने का तरीका
बेटा और मां का भजन
casumo सहायता
ऑनलाइन स्लॉट उदा
fun88 बोला न्यायिक