• micro-blog
  • WechatWechat QR code

गुआनडोंग प्रांतिय लोक्स सरकार का होम पृष्ठ  >  News trends  >  Guangdong highlights

सपनों का कैसीनो

स्रोत: Nanfang Daily Online Edition     time: 2021-10-27 05:50:51

फ़ुटबॉल वॉक सपनों का कैसीनो 188bet घोटाला,fun88 ऐप एंड्रॉइड,lovebet 2021 फ्री बेट,lovebet जी हिलार,lovebet शनिवार 7,lovebetिन्र,बैकारेट 450 रूज,बैकारेट लाइव बेटिंग,बेस्ट फाइव डे स्प्लिट,सबसे बड़ा कैसीनो,कैसीनो के खेल मुफ्त,शतरंज 0-0,क्रिकेट 6 गेंद 6 विकेट,क्रिकेट छत ardmore पा,ई-स्पोर्ट्स न्यूट्रिशन रिसर्च लिमिटेड,फुटबॉल 50,फुटबॉल डॉट कॉम 24,हा शतरंज,लाइव बैकारेट कैसे खेलें,क्या लवबेट विश्वसनीय है,Jungee rummy.com इस और अन्य प्रीमियम सुविधाओं का उपयोग करने के लिए,लाइव कैसीनो नए सदस्य,लॉटरी शाम का परिणाम,लूडो निंजा पुराना संस्करण,यूरोपीय कप की आधिकारिक वेबसाइट,ऑनलाइन गेम हैकर ऐप डाउनलोड,ऑनलाइन रूले सट्टेबाजी,व्यक्ति पोकर टेबल आयाम,पोकर अनुक्रम,रूले नकद खेल,रम्मी 38498,रम्मीकल्चर मॉड apk,स्लॉट 2 (1 के 2 बैंक),खेल चश्में,सिस्टम 5/6 लवबेट,सबसे अच्छी गेमिंग टेबल,यूनीबेट लाइव ब्लैकजैक,असली कैश नेट कौन सा है,a स्टेटस वीडियो डाउनलोड,ऑनलाइन पैसे बनाएं up,क्रिकेट चार्ट,गोवा हिंदी न्यूज़,तीन पत्ती स्टार्ट,बरसात इमेज,मछली पकड़ने का स्वामी,स्टेटस ओल्ड, ,कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी, यह है वजह

  


  

कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी, यह है वजह

  कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी, यह है वजह

कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में न्‍यूनतम मजदूरी में 15-20 फीसदी का इजाफा हुआ है.
मुंबई : पिछले कुछ महीनों में कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में काम करने वाले वर्कर्स की न्‍यूनतम दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी है. ये रियल एस्‍टेट, इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर, सीमेंट, स्‍टील, सड़क एवं हाईवे और शहरी विकास परियोजनाओं में काम करते हैं. मजदूरी में बढ़ोतरी की वजह लेबरों की कमी है. कंपनियों ने अपने पुराने प्रोजेक्‍टों को पूरा करने के लिए काम की रफ्तार बढ़ाई है.

कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में न्‍यूनतम मजदूरी में 15-20 फीसदी का इजाफा हुआ है. इस सेक्‍टर में करीब 5 करोड़ लोग काम करते हैं. मानव संसाधन प्रबंधन फर्म बेटरप्‍लेस के अनुमान के अनुसार, महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.

इसे भी पढ़ें : कोरोना के दौर में सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीत?

मजदूरों को सबसे ज्‍यादा रोजगार कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में मिलता है. यह सेक्‍टर काफी कुछ असंगठित है. ज्‍यादातर वर्कर्स दिहाड़ी मजदूरी पर काम करते हैं. बेटरप्‍लेस के सीओओ सौरभ टंडन ने कहा कि लेबर की किल्‍लत के चलते कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में मजदूरी बढ़ी है. कंपन‍ियां तेजी से अपनी लंबित परियोजनाओं को पूरा करना चाहती हैं.

टॉप एग्‍जीक्‍यूटिव्‍ज के अनुसार, कुशल कामगारों की भारी किल्‍लत है. कारण है कि महामारी के बाद बड़ी संख्‍या में मजदूर अपने-अपने घरों से वापस नहीं लौटे हैं. रियल एस्‍टेट डेवलपर हीरानंदानी ग्रुप के एमडी निरंजन हीरानंदानी ने कहा कि हम बाहर से कुशल कारीगरों को लाने की कोशिश कर रहे हैं. ये ज्‍यादा मजदूरी की मांग करते हैं. इससे कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में औसत मजदूरी बढ़ी है. कुशल श्रमिकों की कमी सिर्फ रियल एस्‍टेट की समस्‍या नहीं है, बल्कि यह दिक्‍कत हर सेक्‍टर की है. बहुत कम लोगों के पास काम की कुशलता होती है.

इसे भी पढ़ें : सिर्फ 10% कर्मचारी ऑफिस लौटे : रिपोर्ट

इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर प्रोजेक्‍टों के बिल्‍डर केईसी इंटरनेशनल के सीईओ विमल केजरीवाल ने कहा कि फिटर और कारपेंटर जैसे कुशल कामगारों की मजदूरी 10-20 फीसदी बढ़ गई है. काम ज्‍यादा है. लंबित परियोजनाओं को पूरा करने का दबाव है. सभी साइटों पर पूरी क्षमता के साथ काम हो रहा है.

इंडस्‍ट्री के जानकार कहते हैं कि मध्‍यम और छोटे संस्‍थान जिनमें लॉकडाउन की शुरुआत में वर्कर्स को रोक पाने की क्षमता नहीं थी, उन्‍हें लेबरों को मंगाने में ज्‍यादा खर्च करना पड़ रहा है. कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर की बड़ी कंपनियों ने खाने-पीने और रहने की व्‍यवस्‍था उपलब्‍ध कराकर अपने वर्कर्स को बनाए रखा.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

द‍िहाड़ी मजदूरीमजदूरी में इजाफान्‍यूनतम द‍िहाड़ीकंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टरलेबरों की किल्‍लत

ETPrime stories of the day

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read

कोरोना के दौर में सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीत?

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने मंगलवार को कहा कि चीनी मिलों ने इस महीने से शुरू होने वाले विपणन वर्ष 2021-22 में अब तक 18 लाख टन चीनी निर्यात का अनुबंध किया है तथा चीनी उद्योग की कंपनियों को अधिशेष स्टॉक को समाप्त करने के लिए कम से कम 60 लाख टन का निर्यात करने को कहा गया है। चीनी मिलों को नए निर्यात गंतव्यों का पता लगाने के लिए कहा गया है, क्योंकि अफगानिस्तान में घरेलू अस्थिरता के कारण वहां निर्यात प्रभावित हो सकता है।नौकरी जॉबस्पीक्स इंडेक्स की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, डिजिटल बदलाव की लहर में सूचना प्रौद्योगिकी-सॉफ्टवेयर क्षेत्र लगातार इससे बचा हुआ है.कोटक महिंद्रा एएमसी को अपीलीय न्यायाधिकरण से राहत

महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) बहुपक्षीय विकास संस्थान एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक (एआईआईबी) ने मंगलवार को कहा कि वह भारत को भविष्य की स्वास्थ्य चुनौतियों से निपटने के लिये स्वास्थ्य संबंधी ढांचागत सुविधाओं को मजबूत बनाने में सहयोग करेगा। बीजिंग स्थित वित्तपोषण संस्थान ने कहा कि वह जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों से निपटने में सक्षम ढांचागत परियोजनाओं के विकास को लेकर भारत सरकार के साथ काम कर रहा है। एआईआईबी के अध्यक्ष जिन लिक्यून ने सालाना बैठक के दौरान अलग से ‘ऑनलाइन’ सम्मेलन में कहा, ‘‘जब हम परियोजना प्रस्तावों की जांच करते हैं, तो हम यह सुनिश्चित करने के लिए भारतकितनी सेफ है आपकी जॉब? खतरों के इन 7 संकेतों के बारे में जान लें

रोजगार संबंधी सेवाएं देने वाली वेबसाइट नौकरी डॉट कॉम के 'हायरिंग आउटलुक सर्वे' के अनुसार, नियोक्ता नए साल को लेकर आशावान लग रहे हैं.नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने मंगलवार को कहा कि चीनी मिलों ने इस महीने से शुरू होने वाले विपणन वर्ष 2021-22 में अब तक 18 लाख टन चीनी निर्यात का अनुबंध किया है तथा चीनी उद्योग की कंपनियों को अधिशेष स्टॉक को समाप्त करने के लिए कम से कम 60 लाख टन का निर्यात करने को कहा गया है। चीनी मिलों को नए निर्यात गंतव्यों का पता लगाने के लिए कहा गया है, क्योंकि अफगानिस्तान में घरेलू अस्थिरता के कारण वहां निर्यात प्रभावित हो सकता है।सरसों, सोयाबीन, सीपीओ और पामोलीन में सुधार



Relevant reports:जैकपॉट टेबल गेम्स
Relevant reports:रम्मी ऑर्डर
Relevant reports:तीन पत्ती हैक
Relevant reports:कैसीनो ग्रैन मैड्रिड
Relevant reports:वाइल्डज़ कैसीनो ऑनलाइन
Relevant reports:6+ पोकरस्टार
Relevant reports:Baccarat खेलने का सबसे अच्छा तरीका
Relevant reports:betway बादशाह
Relevant reports:पोकर h.o.r.s.e
Relevant reports:ऐसी बरसात
Relevant reports:रम्मीकल्चर नवीनतम संस्करण
Relevant reports:मछली पकड़ने की भीड़ प्रश्नोत्तरी
Relevant reports:ऑनलाइन गेम पबजी
Relevant reports:आईपीएल अगला मैच 2021
Relevant reports:जीतने के लिए सबसे अच्छा कैसीनो
Relevant reports:कैंडी बच्चे क्रिसमस
Relevant reports:रम्मी ओ निर्देश
Relevant reports:क्रिकेट भारत पाकिस्तान
Relevant reports:बैकारेट website
Relevant reports:betway यांकी बेट
Relevant reports:क्रिकेट status
Relevant reports:शतरंज 8 साल का
Relevant reports:फुटबॉल पर दांव कैसे लगाएं
Relevant reports:ग्लोबल गेमिंग कंपनी
Relevant reports:बीए फुटबॉलर
Relevant reports:स्टेटस छठ पूजा
Relevant reports:21 बजे zikri

【font:large in Small
प्रतिलिपि अधिकार: दक्षिण न्यूज नेटवर्कगुआनडोंग आईसीपी तैयार 05070829 website identification code 4400000131
Sponsor: नान्फांग न्यूज़र नेटवर्क co sponsor: Guangdong Provincial Economic and Information Technology Commission contractor: Nanfang news network
1024 is recommended × Browser with 768 resolution above IE7.0